प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी)

 

सबके लिए आवास-ं2022

  • प्रधानमंत्री आवास योजना जून 2015 में लागू की गई जिसके अन्तर्गत सबके लिए 2022 तक आवास उपलब्ध कराने का लक्ष्य है।
  • इस योजना का लाभ भारत के नागरिक को जिनका भारत वर्ष में कही भी पक्का आवास न हो, को मिलेगा।

 

इस योजना के 4 घटक है :- 

(1) स्व-स्थान स्लम पुनर्विकास :- इस घटक में स्लम का पुनर्विकास निजी भागीदारी के माध्यम से किया जाएगा जिसमे भूमि का उपयोग संसाधन के रुप में किया जा सकेगा। इसमें नगर निगम को EWS मकान हेतु केन्द्र अनुदान 1.00 लाख रुपये है।

(2) ऋण आधारित ब्याज सबसिडी योजना :- इसके तहत हितग्राहीम् EWS एवंLIG नए मकान अथवा मोजूदा माकान के विस्तार हेतु ऋण ले सकेगा जिसमें 6.00 लाख तक रुपये तक की ऋण सीमा के भीतर 6ण्50ः की ब्याज दर से छूट होगी 6ण्50ः की ब्याज दर के ऊपर की ब्याज हितग्राही को देनी होगी। ऋण 15 वर्षो की आसान किस्तों में मिलेगा।

(3) भागीदारी मे किफायती आवास :- इस योजना में ऐसे आवासहीन जिनकी वार्षिक आय 3.00 लाख रुपये तक है को EWS मकान मिल सकेगा इस योजना के तहत केन्द्र का अनुदान 1.50 लाख रुपये तथा राज्य का अनुदान 1.50 लाख रुपये है।

 

प्रधानमंत्री आवास योजना (ए.एच.पी. घटक)

ए.एच.पी. घटक अंतर्गत प्रथम वर्ष की स्वीकृत कार्य योजना

  • स्वीकृत कार्य योजना लागत - 188.35 करोड़
  • कुल आवासों की संख्या - 2812 EWS-2446, LIG-246, MIG-120

 

योजनान्तर्गत राशि विवरण :-

  • केन्द्र अनुदान -36.69 करोड़ (1.5 लाख प्रति हितग्राही)
  • राज्य अनुदान -36.69 करोड़ (1.5 लाख प्रति हितग्राही)
  • हितग्राही अनुदान -48.92 करोड़ (2.00 लाख प्रति हितग्राही)
  • निगम अनुदान -66.05 करोड

 

प्रधानमंत्री आवास योजना बी.एल.सी. घटक

बी.एल.सी. घटक अंतर्गत प्रथम वर्ष की स्वीकृत कार्य योजना

  • स्वीकृत कार्य योजना लागत - 119.79 करोड़
  • स्वीकृत आवासों की संख्या - 2736़+879=3615
  • प्रति हितग्राही को दी जाने वाली अनुदान राशि - 2,50,000/-

 

अनुदान राशि का विवरण

  • प्रारंभ में - 50,000/- (प्रथम किस्त)
  • प्लिंथ (कुर्सी) लेवल तक कार्य पूर्ण होने पर - रू0 75,000/-(द्वितीय किस्त)
  • रू0 50,000/-(तृतीय किस्त)
  • छत का कार्य पूर्ण होने पर - रू0 75,000/-(चतुर्थ किस्त)
हमारी कार्य प्रक्रिया
01

विचार और डिजाइन

With righteous indignation and works off beguiled demoralized charm.

02

विशिष्टता

Our power of choice is untrammelled and when nothing prevents.

03

क्रियान्वयन

Wing to the claims of duty the obligations will frequently occur.